ख़रीदार

उँगलियाँ टूट गयीं पत्थर तराशते तराशते!!
जब बनी सूरत यार की,तो ख़रीदार आ गये!!

Leave a Reply